Diwali 2022 Financial Planning Tips : दिवाली पर ऐसे बचाएं पैसे, लक्ष्मीजी की कृपा बनी रहेगी

Diwali 2022 Financial Planning Tips : दिवाली का त्‍योहार बेहद नजदीक है। पूरे घर की साफ-सफाई की जाती है और लोग अपने घरों को झालरों ओर दीयों से सजाते हैं। प्रकाश के पर्व दीवाली पर लोग नये कपड़े पहनकर माता लक्ष्‍मी की पूजा आराधना करते हैं। ताकि लक्ष्‍मी की कृपा सालभर बनी रहे और सुख-समृद्ध‍ि भर भरकर आए।

Advertisement

त्‍योहार में उत्‍साह और खुशियों का होना जरूरी है। लेकिन अतिउत्‍साह में लोग फि‍जूल खर्ची कर लेते हैं। इससे उनका बजट बिगड़ जाता है। नतीजतन बचत भी नहीं हो पाती। ऐसे में हर परिवार को मनी मैनेजमेंट (Money Management) या फाइनेंशियल प्‍लानिंग (Finanacial Planing) कर लेनी चाहिए। ताकि आप अपने भविष्‍य की जरूरतों के मुताबिक पैसा बचा सकें। यहां हम आपको बता रहे है कि कैसे दिवाली पर वित्‍तीय योजनाएं बनाएं ताकि माता लक्ष्‍मी आप पर सदा मेहरबान बनीं रहे।

यह भी पढ़ें- Financial planning kaise kare : फाइनेंशियल प्लानिंग समझना जरूरी

ज्यादा डिस्काउंट के लालच में न आएं

अग्रेसिव मार्केटिंग और सेल्‍स स्‍ट्रेटेजी के चलते त्योहारी सीजन में बाजार का दबदबा रहता है। लगभग हर कंपनी मुनाफा कमाने के लिए डिस्काउंट का ऑफर देती हैं। जिसके प्रभाव में आकर लोग उन उत्‍पादों को खरीद लेते हैं। डिस्‍काउंट के चक्‍कर में लोग उन चीजों को  भी खरीद लेते हैं जिनकी उन्‍हें जरूरत तक नहीं होती।

इसलिए Diwali 2022 में डिस्‍काउंट दिखे तो समझदारी से काम लें और ठहरकर सोचें कि फलां चीज की हमें जरूरत है भी कि नहीं। अपने खर्चों का बजट बनाकर दिवाली की शॉपिंग करें। ऐसा करने पर ही आप फिजूल खर्ची से बच सकेंगे।

उधार कतई न लें

दिवाली रोशनी और खुशियों का त्योहार है। लेकिन त्योहारों पर फिजूल खर्ची करेंगे तो आपका बजट बिगड़ेगा। आपको आवश्‍यक चीजों के लिए पैसों की जरूरत पड़ जाएगी। ऐसे में लोग अपने रिश्तेदारों, दोस्तों या किसी अन्य से पैसा उधार ले लेते हैं। इन स्थितियों से बचने के लिए अगर आपने पहले ही अपना बजट  बना लिया है तो आपको उधार नहीं मांगना पड़ेगा।

अपना लक्ष्य बनाएं और फिर निवेश करें

कई लोग समय पर निवेश नहीं करते हैं। इसकी वजह से निवेश का सही समय निकल जाता है। जल्दी निवेश करना लाभदायक साबित हो सकता है। इसके लिए सबसे पहले अपना लक्ष्य बनाएं कि आपको शादी, बच्चों की पढ़ाई, या किसी अन्य अवसर के लिए कब तक कितने पैसे इकट्ठे करने हैं। फिर इसी लक्ष्य के आधार पर निवेश शुरू करें।

इमरजेंसी फंड जरूर बनाएं

सैलरी या पैसों का आगमन रूक सकता है लेकिन बेसिक खर्चों को आप रोक नहीं सकते। आप इमरजेंसी फंड बनाकर नौकरी जाने या व्‍यवसाय में घाटे की स्थितियों में पैसों की जरूरत पूरी कर सकते हैं। अचानक आने वाली मुसीबतों के लिए 6 माह का इमरजेंसी फंड बनाना चाहिए। ताकि आपातकालीन स्थितियों में घर खर्च चलाने में सुविधा हो।

इसके लिए आपको अपनी मासिक इनकम के एक हिस्‍से को बचाकर इमरजेंसी फंड बनाना होगा। अगर ऐसा आपने कर लिया तो आर्थिक संकट की घड़ी में आपको किसी से उधार नहीं लेना पड़ेगा।

हेल्‍थ इंश्योरेंस पॉलिसी है बेहद जरूरी

कोरोना काल में लोगों को हेल्‍थ इंश्‍योरेंस और पैसों की बचत का महत्‍व आसानी से समझ आ गया है। अस्पतालों के भारी-भरकम इलाज और सर्जरी के खर्च से बचने के लिए स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) बेहद जरूरी है।

इसके बिना मेडिकल इमरजेंसी के आने पर आपकी सारी जमा पूंजी एक झटके में खत्‍म हो सकती है। रिसर्च बताती है कि भारत में 85 प्रतिशत लोगों के पास इलाज और सर्जरी के आकस्मिक खर्चों के लिए 10 लाख रुपये नहीं होते हैं। अस्‍पताली इलाज को पूरा करने के लिए लोगों को अपनी संपत्ति और जमा पूंजी से हाथ धोना पड़ जाता है।

अगर आपने एक पूरे परिवार के लिए अच्‍छी हेल्‍थ पॉलिसी ली है तो आप पर वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा। इसलिए इंश्योरेंस पॉलिसी के दस्तावेज ध्यान से पढ़कर पूरे परिवार का बीमा जरूर खरीदें।

इस दिवाली दें फाइनेंशियल गिफ्ट

दिवाली पर अपने प्रियजनों को गिफ्ट देने की परंपरा है। इस दिवाली पर अपने प्‍यारों और खुद को तोहफे के रूप में फाइनेंशियल प्रॉडक्‍ट दें। ये प्रॉडक्‍ट गारंटीड सेविंग प्‍लान, म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स, हेल्‍थ इंश्‍योंरेंस या लाइफ इंश्‍योरेंस में से कुछ भी हो सकता है। ये यादगार उपहार आप और आपके प्रियजनों को वित्‍तीय रूप से सशक्‍त बनाएंगे। साथ ही भविष्‍य में वित्‍तीय सुरक्षा भी प्रदान करेंगे।

फाइनेंशियल प्‍लानिंग लॉन्‍ग टर्म की एक जटिल प्रक्रिया है। इसे किसी फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट से तैयार करवाएं। जरूरी नहीं है कि आप हर चीज के एक्‍सपर्ट हों। फ्यूचर प्‍लानिंग के लिए फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट से ही मदद लेनी चाहिए ताकि निवेश में कोई चूक न हो जाए ।

यह भी पढ़ें- 4 तरह के जोखिम से खुद और फैमिली मेंबर्स को दें इंश्योरेंस का प्रोटेक्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!