Financial planning kaise kare : फाइनेंशियल प्लानिंग समझना जरूरी

Financial planning kaise kare : फाइनेंशियल प्लानिंग यानी वित्तीय योजनाएं बनाना एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें आप अपने आर्थि‍क लक्ष्यों को हासिल करने के लिए अपने पैसों का उपयोग विवेकपूर्ण तरीकों से करने का फैसला लेते हैं।

Advertisement

दूसरे शब्दों में कहें तो फाइनेंशियल प्लानिंग ऐसी तर्कसंगत प्रक्रिया है, जिसमें फाइनेंशियल एडवाइजर अपने क्लाइंट के पहले से उपलब्ध वित्तीय स्रोतों का इस्तेमाल उनके वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में करते हैं। इनमें फाइनेंशियल टूल्स का भी विधिवत प्रयोग शामिल रहता है।

फाइनेंशियल प्लाानिंग को गणितीय नजरिये से तीन कम्पोनेंट्स के आधार पर समझा जा सकता है-

1- फाइनेंशियल रिसोर्सेज यानी आर्थिक स्रोत
2- फाइनेंशियल टूल्स यानी वित्तीय साधन
3- फाइनेंशियल गोल्स यानी आर्थिक लक्ष्य

Financial Planning:  फाइनेंशियल रिसोर्सेज+फाइनेंशियल टूल्स = फाइनेंशियल गोल्स

यह भी पढ़ें- Fixed Deposit नहीं, ये हैं निवेश के 7 बेहतरीन विकल्‍प

Financial planning kaise kare : फाइनेंशियल प्लानिंग की सहायता से फाइनेंशियल प्लानर किसी व्यक्ति के आर्थिक लक्ष्यों का प्रबंधन यानी मैनेजमेंट करते हैं। अलग-अलग व्यक्तियों की जरूरतों के हिसाब से उनके जीवन के लक्ष्य हो सकते हैं। जैसे- मकान या कार खरीदना, बच्चों की शिक्षा पर होने वाला खर्च, शादी का खर्च और रिटायरमेंट प्लानिंग।
फाइनेंशियल प्लानिंग के तहत कुछ निश्चित तरीकों से क्लांइंट को बताया जाता है कि उन्हें आर्थिक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए क्या-क्या करना हैंं।

फाइनेंशियल प्लानिंग क्यों जरूरी है

Financial planning kaise kare : फाइनेंशियल प्लानिंग से निवेशक को वित्तीय निर्णय लेने में सुविधा होती है। इससे ये पता चलता है कि कोई वित्तीेय निर्णय आपके अन्य आर्थिक लक्ष्यों को किस प्रकार प्रभावित कर सकता है।

फाइनेंशियल प्लानिंग की मदद से शार्ट टर्म और लॉन्ग टर्म अवधि की योजनाएं बनाई जा सकती हैं। इनमें टैक्स बचाने की युक्तियां भी शामिल हैं।

किसी विशेष आर्थिक लक्ष्य को हासिल करने के लिए निवेश योजनाओं में निवेश किया जाता है। इन निवेश योजनाओं को जारी रखना तभी संभव हो पाता है, जब आपका कोई आर्थिक लक्ष्य हो।

वित्तीय जोखिमों से कैसे बचें

Financial planning kaise kare : नौकरी छूट जाने, गंभीर बीमारी होने, कानूनी विवाद, आकस्मिक मृत्यु, दुर्घटना या प्राकृतिक आपदा जैसी स्थितियों में आर्थिक सलाह की जरूरत आन पड़ती है। फाइनेंशियल प्‍लानिंंग से किसी की इंश्योरेंस संबंधी जरूरतों को भी पूरा किया जाता है ताकि उन्हें अपने लक्ष्यों को हासिल करने में कोई परेशानी न हों।

उदाहरण के तौर पर निवेश से पहले निवेशक के पास लाइफ या टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी, हेल्थ पॉलिसी और पर्सनल एक्सीडेंट पालिसी का होना बेहद जरूरी बताया गया है।
इसके अलावा निवेश के दौरान मार्केट रिस्की, इन्फेेलेशन रिस्क, इंटरेस्ट रिस्क रेट और रीइन्वेेस्टटमेंट रिस्क जैसे जोखिम शामिल होते हैं।

फाइनेंशियल प्लानिंग की मदद से इन सभी तरह के जोखिमों को कम से कम रखा जाता है।

यह भी पढ़ें-Tax saver elss fund से कैसे बचाएं टैक्‍स? 6 कारणों से बेस्‍ट हैं ELSS में निवेश

फाइनेंशियल प्‍लानिंंग करने के लाभ

– वित्तीय लक्ष्यों अथवा जरूरतों को जानना और समझना वित्तीय लक्ष्यों को साधनों के अधिकतम इस्तेमाल से प्राप्त करना
– निवेश साधनों के प्रभावों को समझना
– वित्तीय और व्यक्तिगत बदलावों को स्वीकार करना
– इस बात को सुनिश्चित करना कि आपके अपने लक्ष्यों से कतई समझौता करने वाले नहीं हैं

यह भी पढ़ें- sip vs one time investment in mutual funds : किसमें है ज्‍यादा रिटर्न?

फाइनेंशियल प्लानिंग की प्रक्रिया

Financial planning kaise kare : नौकरी के शुरुआती दौर अथवा युवावस्था में किए गए फाइनेंशियल प्लानिंग से जीवन के लक्ष्यों को पूरा करने में ज्यादा सुविधा होती है।

इसकी सहायता से आप पैसा बना सकते हैं। इमरजेंसी फंड बनाने जैसी योजना भी इसमें शामिल है। फाइनेंशियल प्लानिंग निवेशक को निवेश के संबंध में सदैव अपडेट रखता है ताकि वे कोई गलती न करें।

फाइनेंशियल प्लानिंग में किन निवेश साधनों में निवेश किया जाए, इसका पूरा रोडमैप शामिल होता है।

इसमें बैंक पोस्ट ऑफि‍स की जमा योजनाएं, एफडी, किसान विकास पत्र, आरडी, इंश्योरेंस प्रॉडक्टा, म्युचुअल फंड्स, शेयर, गारंटीड रिटर्न योजनाओं को शामिल किया जाता है।

यह भी पढ़ें-Emergency fund in mutual fund : नौकरी जाने पर इस फंड से करें खर्च

अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो तो कमेंट बॉक्‍स में कमेंट करें। साथ ही हमारे फेसबुक पेज पर जाकर लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!