HDFC Sanchay Plus और Bank FD में से कौन सा निवेश देगा ज्‍यादा फायदा?

HDFC  Sanchay Plus लॉन्‍ग टर्म बैंक एफडी का बेहतर ऑप्शन है। सुरक्षित तरीके से गारंटीड इनकम चाहने वालों के लिए ये प्‍लान बढ़ि‍या विकल्‍प है।

परंपरागत निवेशक बचत और निवेश के मकसद से लोग अपनी मोटी रकम एफडी के तौर पर आज भी बैंकों में जमा करते हैं। बैंक एफडी उन निवेशकों के लिए अच्छा ऑप्‍शन माना जाता हैं, जो तनिक भी जोखिम नहीं लेना चाहते।

Bank FD उन परंपरागत निवेशकों के लिए ठीकठाक कही जा सकती हैं, जो शेयर मार्केट, म्‍युचुअल फंड जैसे साधनों से काफी दूरी बनाकर चलते हैं। हालांकि, महंगाई के लिहाज से बैंक एफडी पर मिलने वाला ब्‍याज नाकाफी साबित होता है।

Advertisement

Bank FD पर कितना दे रहेें ब्‍याज ?

मौजूदा समय में प्राइवेट और सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बड़े बैंकों ने एफडी पर ब्‍याज दरें काफी घटा दी हैं। अलग-अलग समयावधि के लिए 1 करोड़ रुपये तक के निवेश के लिए एफडी की ब्‍याज दरें 4.25% से 6.50% तक हैं।

वहीं, सीनियर सिटीजन के मामले में ही बैंक मामूली रूप से कुछ अधिक ब्‍याज ऑफर कर रहे हैं। इनकी दरें 6% से 7% तक हैं।

बाकी मामलों में ब्‍याज दरें कतई लुभावनी नजर नहीं आतीं। आइए नीचे की तालिका में अलग अलग समयावधि की Bank FD पर मौजूदा ब्‍याज दरों पर डालते हैं एक नजर-

HDFC Sanchay Plus
Bank Fixed Deposit rates

मौजूदा परिवेश में ये कहना जरा भी अतिशयोक्ति पूर्ण नहीं होगा कि महंगाई के नजरिए से बैंक एफडी में पैसा रखना घाटे का सौदा है। अब आप पूछेंगे कि परंपरागत निवेशक सुरक्षि‍त रिटर्न के लिए आखिर अपना पैसा कहां निवेश करें? चलिए, इसका जवाब हम देते हैं।

ये भी पढ़ें- Fixed Deposit का ब्याज नहीं रहा आकर्षक, ये हैं निवेश के 7 बेहतरीन विकल्प

परंपरागत निवेशकों के लिए HDFC  Sanchay Plus में निवेश करना एक कारगर जरिया हो सकता है। कैसे? आइए, इसके लिए हम एचडीएफसी लाइफ की ओर से पेश इस प्‍लान के बारे में डिटेल में समझते
हैं –

HDFC  Sanchay Plus एचडीएफसी लाइफ की एनडॉमेंट पालिसी है। ये तीन ऑप्‍शन में उपलब्‍ध हैं।

1-गारंटीड इनकम ऑप्‍शन(Guaranteed Income option)

2-लॉन्‍ग टर्म इनकम (Long Term income option) ऑप्‍शन

3- तीसरा लाइफ लॉन्‍ग इनकम ऑप्‍शन (Life Long income option)

HDFC  Sanchay Plus से Guaranteed Income कैसे लें-

Guaranteed Income ऑप्‍शन के तहत HDFC  Sanchay Plus में दो प्‍लान पेश किए गए हैं। जो निम्‍नवत हैं-

1-40 हजार रुपये का प्रीमियम 10 साल तक जमा करने के बाद निवेशक को सालाना 75 हजार 200 रुपये 10 साल तक मिलेंगे। इस प्रकार निवेशक को 10 साल में जमा 4 लाख रुपये के बदले मैैैैैैैच्‍योरिटी पर 7 लाख 52 हजार रुपये मिलेंगे।

2-40 हजार रुपये का प्रीमियम 12 साल तक जमा करने पर सालाना 83 हजार 600 रुपये 12 साल तक मिलेंगे। इस तरह 12 साल में कुल जमा प्रीमियम 4 लाख 80 हजार के निवेश पर मैैैैैैैच्‍योरिटी पर 10 लाख 3 हजार 200 रुपये मिलेंगे।

ये भी पढ़ें- ICICI PRU POS ASIP : 7 लाख के निवेश पर पाएं Guaranteed 13.94 लाख

HDFC  Sanchay Plus से Long Term income कैसे लें-

Long Term income ऑप्‍शन के साथ HDFC  Sanchay Plus में दो प्‍लान पेश किए गए हैं। जो निम्‍नवत हैं-

1-40 हजार रुपये का प्रीमियम 10 साल तक जमा करने के बाद निवेशक को 12 वें साल से सालाना 36 हजार 500 रुपये 25 साल तक मिलेंगे। इस ऑपशन की सबसे लुभावनी बात बात ये है कि अंतिम पे आउट के वक्‍त निवेशक को 38 हजार रुपये के साथ कुल जमा प्रीमियम 4 लाख रुपये भी वापस मिल जाएंगे।

इस तरह निवेशक को 10 साल में जमा 4 लाख रुपये के बदले अगले 26 साल की अवधि में  13 लाख 12 हजार 500 रुपये मिल जाएंगे।

2- 40 हजार रुपये का प्रीमियम 5 साल तक जमा करने के बाद निवेशक को सालाना 12 हजार 700 रुपये 30 साल तक मिलेंगे। इस ऑपशन की सबसे लुभावनी बात बात ये है कि अंतिम पे आउट के वक्‍त निवेशक को 12 हजार 700 रुपये के साथ कुल जमा प्रीमियम 2 लाख रुपये भी वापस मिल जाएंगे।

इस प्रकार निवेशक को 5 साल में जमा 2 लाख रुपये के बदले अगले 31 साल में 5 लाख 81 हजार रुपये मिल जाएंगे।

प्‍लान में ज्‍यादा प्रीमियम चुकाने पर मैच्यो‍रिटी पर ज्‍यादा ब्‍याज दिया जा रहा है। नीचे की टेबल में 1 लाख के सालाना प्रीमियम पर आईआरआर और मैच्‍योरिटी प्रतिशत की गणना की गई है। इस प्‍लान के तहत निवेश करने के इच्‍छुक लोगों को निवेश से पहले कोटेशन मंगवाकर पूरी जानकारी कर लेनी चाहिए।

Hdfc life sanchay plus

HDFC  Sanchay Plus से Life Long income कैसे लें-

यहां लाइफ लॉन्‍ग इनकम का मतलब निवेशक की 99 साल की उम्र होने तक से हैं। यह प्‍लान 50 साल की आयु प्राप्‍त कर चुके लोगों के लिए ही है।

Life Long Term income ऑप्‍शन के साथ HDFC  Sanchay Plus में दो प्‍लान पेश किए गए हैं। जो निम्‍नवत हैं-

1-40 हजार रुपये का प्रीमियम 5 साल तक जमा करने के बाद सालाना 12 हजार 200 रुपये निवेशक की 99 साल की उम्र होने तक मिलते रहेंगे। सबसे खास फीचर ये हैं कि अंतिम पे आउट के वक्‍त निवेशक को 12 हजार 200 रुपये के साथ कुल जमा प्रीमियम 2 लाख रुपये भी लौटा दिए जाएंगे।

इस प्रकार निवेशक को 5 साल में जमा 2 लाख रुपये के बदले अगले 99 साल की आयु होने तक कुल 7 लाख 12 हजार 400 रुपये मिल की इनकम प्राप्‍त हो जाएगी।

2-40 हजार रुपये का प्रीमियम 10 साल तक जमा करने के बाद सालाना 34 हजार 800 रुपये निवेशक की 99 साल की उम्र होने तक मिलते रहेंगे। सबसे खास फीचर ये हैं कि अंतिम पे आउट के वक्‍त निवेशक को 34 हजार 800 रुपये के साथ कुल जमा प्रीमियम 4 लाख रुपये भी मिल जाते हैं।

इस प्रकार निवेशक को 10 साल में जमा 4 लाख रुपये के बदले अगले 99 साल की आयु होने तक कुल 16 लाख 87 हजार 600 रुपये की इनकम प्राप्‍त हो जाएगी।

प्‍लान में ज्‍यादा प्रीमियम चुकाने पर मैच्यो‍रिटी पर ज्‍यादा ब्‍याज दिया जा रहा है। नीचे की टेबल में 1 लाख के सालाना प्रीमियम पर आईआरआर और मैच्‍योरिटी प्रतिशत की गणना की गई है। इस प्‍लान के तहत निवेश करने के इच्‍छुक लोगों को निवेश से पहले कोटेशन मंगवाकर पूरी जानकारी कर लेनी चाहिए।

Hdfc Life long guaranteed plan

प्‍लान के तहत ऊपर दिए गए सभी लाभ तभी मिलेंगे जब पॉलिसी होल्‍डर ने सभी प्रीमियमन्‍स का भुगतान समय से पूरा किया हों।

आइए संक्षेप में पूरे प्‍लान पर डालते हैं नजर-

Hdfc sanchay plus
Hdfc sanchay plus plan summary

बैंक एफडी से क्‍यों बेहतर है HDFC  Sanchay Plus प्‍लान-

1-HDFC  Sanchay Plus से होने वाली इनकम टैक्‍स फ्री है। लम्‍बी अवधि में Hdfc sanchay plus का  interest rate बैंक एफडी के मामले में बेहतर है।

बता दें किे प्लान में कुल जमा प्रीमियम पर 5.73% का आईआरआर (interest) दिया जा रहा है, जो बैंक एफडी के 5.40% के आईआरआर (interest) से 0.30 प्रतिशत अधिक होने से लाभदायी है।

यदि निवेशक 20 प्रतिशत के टैक्‍स स्‍लैब में आता है तो बैंक एफडी का आईआरआर घटकर 4.32% ही रह जाता है।

वहीं, 30 प्रतिशत के टैक्‍स ब्रेकेट में आने वाले निवेशक के लिए बैंक एफडी का आईआरआर घटकर 3.78% रह जाएगा।

मतलब साफ है कि हाई टैक्‍स स्‍लैब के निवेशकों के लिए बैंक एफडी का रिटर्न सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्‍याज से ही अधिक है। उधर, HDFC  Sanchay Plus पॉलिसी रिटर्न देने के मामले में बैंक एफडी से आगे है।

2- HDFC  Sanchay Plus  के सभी विकल्‍पों में प्रीमियम के 10 गुना तक कवर प्रदान किया जा रहा है। यदिs पे प्रीमियम टर्म पूरा होने से पहले निवेशक की मृत्‍यु हो जाती है तो नॉमिनी को प्रीमियम का 10 गुना कवर जितनी धनराशि का भुगतान कर दिया जाता है।

चूंकि बैंक एफडी में लाइफ कवर का कोई फीचर नहीं होता इसलिए ये फीचर बैंक एफडी में हमेशा भारी पड़ता है।

3- HDFC  Sanchay Plus  के सभी ऑप्‍शन्स में सालाना पे आउट के पूरा होने से पहले यदि निवेशक की मौत हो जाती है तो बाकी बचे पे आउट्स का भुगतान नॉमिनी को किया जाता है।

ये भी पढ़ें- elss Elss Mutual funds में निवेश करें, टैक्स से बचाएं पैसों से कमाये मोटा रिटर्न

निष्‍कर्ष-

HDFC  Sanchay Plus को लॉन्‍ग टर्म एफडी का बेहतर विकल्‍प है। पॉलिसी पर बैंक एफडी से ज्‍यादा रिटर्न मिलता है। कवर अलग मिलता है। साथ ही जो हर साल एकमुश्‍त रकम अपने जरूरी खर्चों के तौर पर पाना चाहते हों।

इन विशेषताओं के मद्देनजर परंपरागत निवेशकों को HDFC  Sanchay Plus प्‍लान ले लेना चाहिए। मेरे लिहाज से HDFC  Sanchay Plus प्‍लान उन लोगों के लिए भी मुफीद हैं-

  • जिनके लिए पैसों की बचत करना बहुत मुशिकल हैं।
  • जो इक्विटी बाजार में निवेश का जोखिम लेने से घबराते हैं।
  • शेयर बाजार और इक्विटी की बिलकुल समझ नहीं है।
  • निवेश के मामलों में माथापच्‍ची करने से बचना चाहते हों।

अगर आपको हमारा ये लेख “HDFC  Sanchay Plus और Bank FD में से कौन सा निवेश देगा ज्‍यादा फायदा?” पसंद आया हो तो कमेंट बॉक्‍स में कमेंट करें। साथ ही हमारे फेसबुक पेज पर जाकर लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें।

अधिक जानकारी के लिए 7860678995 पर WHATSAPP संपर्क कर सकते हैं। इस पर आपको फ्री सलाह दी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!