लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स क्‍या हैं, इनमें निवेश क्‍यों सुरक्षित है?

पार्ट 4- लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स क्‍या हैं? Large cap Mutual funds kya hai?

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स : 10 हजार करोड़ से ज्‍यादा के मार्केट कैपिटलाइजेशन यानी मार्केट कैप वाली कंपनियां लार्ज कैप कंपनीज कहलाती हैं।

Advertisement

बता दें कि ऐसी कंपनियों को लार्ज कैप शेयर या ब्‍लूचिप कंपनी या ब्‍लू चिप स्‍टॉक भी कहा जाता है।

इन्‍हीं बड़ी इक्विटी कंपनियों में निवेश करने वाली म्‍युचुअल फंड की स्‍कीम्‍स को लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स कहा जाता है। किसी लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड में बड़े बाजार वाली पूंजीकरण की कंपनियों में धन का बड़े या पूरे हिस्‍से का निवेश किया जाता है।

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स: बता दें कि लार्ज कैप स्‍टॉक्‍स अक्‍सर बिजनेस न्‍यूज में चर्चा के विषय बने रहते हैं। इसलिए इनके बारे में पत्रिका, समाचार पत्र और वेबसाइट्स पर आसानी से विस्‍तार से जानकारी उपलब्ध हैं।

ये मार्केट के बड़े खिलाड़ी और अग्रणी खिलाड़ी होते हैं। लार्ज कैप स्‍टॉक समय-समय पर अपने निवेशको को डिविडेंड और बोनस शेयर का तोहफा दिया करते हैं।

यह भी पढ़ें- Mutual fund kya hain | What is mutual fund in hindi

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स क्‍यों हैं सुरक्षित?

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स: लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स उन कंपनीज में निवेश करते हैं, जिनमें ग्रोथ रेट पाने और लगातार अच्‍छा रिटर्न देने की संभावनाएं होती हैं। ये स्‍टॉक लम्‍बी अवधि में स्थिरता के साथ प्रदर्शन करते हैं। और लगातार एकसमान दर से रिटर्न देते हैं।

लार्ज कैप होने के नाते इन बड़ी कंपनियों की बाजार पर गहरी पकड़ होती है। इनके स्‍टॉक में करेक्‍शन आने पर (बढ़ने या गिरने से) शेयर बाजार के सेंसेक्‍स और निफ्टी सूचकांक में भारी बदलाव देखे जा सकते हैं।

मजबूत फंडामेंटल की स्थापित कंपनियां होने की वजह से लार्ज कैप फंड या कंपनीज में निवेश अमूमन सुरक्षित माना जाता है। बाजार के उतार-चढ़ाव का इन पर मिड कैप और स्माल कैप फंड की तुलना में काफी कम असर पड़ता है। यानी मार्केट करेक्‍शन पर ज्‍यादा अस्थिरता नहीं दिखाते।

इनके शेयरों के दाम भले ही ज्‍यादा हो, बड़े तो बड़े, मध्‍यम दर्जे के निवेशक भी इन्‍हें खरीदने का अवसर हमेशा तलाशते रहते हैं।

यह भी पढ़ें- म्युचुअल फंड कैसे काम करता है? Mutual fund kaise kaam karta hain?

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स में निवेश क्यों करें?

लार्ज कैप म्युचुअल फंड मिड कैप और स्माल कैप फंड से कम अस्थिर होते हैं। लार्ज कैप शेयरों का सबसे बड़ा लाभ कम जोखिम में स्थिरता प्रदान करते हुए बेहतर रिटर्न देना है। इसलिए इनमें निवेश दीर्घकाल में भी सुरक्षित माना जाता है।

इसलिए बाजार और व्यापार में आर्थिक मंदी में निवेशकों की सबसे पहली पसंद लार्ज कैप कंपनीज ही होते हैं।

चूंकि, किसी भी लार्ज कैप म्युच्युअल फंड के टॉप 10 होल‍डिंग्‍स में ब्‍लूचिप कंपनियां शामिल होती हैं। इसलिए म्‍युचुअल फंड की इन स्‍कीमों में निवेश लम्‍बे समय के नजरिये से सुरक्षि‍त माना जाता है।

किसी कंपनी का मार्केट कैप कैसे जानें?

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स : किसी कंपनी की वैल्यू कैपिटलाइजेशन को मार्केट कैपिटलाइजेशन या मार्केट कैप कहते हैं। कंपनी के शेयरों की संख्या को उनकी मार्केट वैल्यू से गुणा करने पर कैपिटलाइजेशन मिलता है।

आइए इसे थोड़ा और आसान कर देते हैं। हर कंपनी शेयर मार्केट में लिस्टिंग के वक्‍त अपने शेयर जारी करती है। शेयरों की कुल संख्या से कंपनी के 100% मालिकाना हक का पता चलता है।

अगर किसी कंपनी के कुल शेयरों की संख्या और उसके प्रत्येक शेयर के मूल्‍य का पता लगा लिया जाए तो उस कंपनी की वैल्यू भी मालूम चल जाती है।

गौरतलब है कि शेयर बाजार में कंपनियों को मार्केट कैप के आधार पर बांटा जाता है। दूसरे शब्‍दों में, कंपनी के मार्केट कैपिटलाइजेशन का मतलब यह भी है कि शेयर बाजार ने किसी कंपनी की कितनी वैल्‍यू तय की है।

इसी आधार पर लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप कंपनियों का निर्धारण भी कैपिटलाइजेशन के आधार पर किया जाता है।

यह भी पढ़ें- म्युचुअल फंड के प्रकार : Mutual Fund ke prakar in hindi

लार्ज कैप कंपनीज और लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड

अधिकतर लार्जकैप या ब्लूचिप कंपनियां बीएसई (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) 100 इंडेक्‍स में लिस्‍टेड हैं।  इंफोसिस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, विप्रो, यूनिलीवर,  आईटीसी, एसबीआई, आईसीआईसीआई, एलएंडटी,  आदि भारत की कुछ नामी लार्ज कैप कंपनीज हैं।

अब ये लार्ज कैप या ब्‍लूचिप कंपनीज म्‍युचुअल फंड की लार्ज कैप स्‍कीम के पोर्टफोलियो में भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- म्‍युचुअल फंड से पैसे कैसे निकालें ? पूरा प्रोसेस जानने के लिए पढ़ें ये लेख

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स क्‍या हैं, उदाहरण से समझें

एक लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड Canara Robeco Bluechip Equity Fund – Regular Plan – Growth का उदाहरण के लेते हैं। इस फंड के पोर्टफोलियो में 41 स्‍टॉक्‍स हैं। फंड का एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) यानी फंड साइज 788.09 करोड़ रुपये है।

कैनरा रोबेको ब्‍लूचिप इक्विटी फंड का 75.85% धन का निवेश लार्ज कैप या ब्‍लूचिप कंपनीज में किया गया है। बाकी मिड कैप 9.71% और अन्‍य कंपनीज में निवेश हैं।

लार्ज कैप कंपनी रिलायंस इंडस्‍ट्रीज में फंड के कुल निवेश का 8.81%,इन्‍फोसिस लिमिटेड में 8.31%, एचडीएफसी बैंक में 8.14%, आईसीआईसीआई बैंक में 8.14% और टाटा कंसलटेंसी में 4.94% धनराशि निवेशित हैं। ये सभी तथ्‍य ऑफर डाक्‍यूमेंट में मौजूद रहते हैं।

इसी तरह एक और लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड लेते हैं- Aditya Birla Sun Life Frontline Equity Fund – Regular Plan – Growth

इस फंड का साइज 17190.51 करोड़ रुपये है। फंड ने कुल एयूएम का 97.17 प्रतिशत निवेश लार्ज कैप कंपनीज में किया है। इनके नाम हैं- रिलायंस इंडस्‍ट्रीज, इन्‍फोसिस, एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक, भारती एयरटेल, सिपला लिमिटेड, हिन्‍दुसतान यूनिलीवर, कोटक महिंद्रा बैंक आदि।

इनके अलावा बड़ौदा पायनियर लार्ज कैप, आईडीएफसी लार्ज कैप, बीएनपी पारिबास लार्जकैप, एल एंड टी इंडिया लार्जकैप, जेएम लार्जकैप, निप्‍पॉन  इंडिया लार्जकैप फंड आदि लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड्स के उदाहरण हैं।

लार्ज कैप म्युच्युअल फंड्स : इस लेख में हमने आपको लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड क्‍या होते हैं, इसकी पूरी जानकारी दी है।

अगर आप अभी तक म्‍युचुअल फंड में निवेश का फैसला नहीं ले सके हैं और आपकी कुछ शंकाएं हैं तो मुझसे 7007367525 या whatsapp helpline chat पर दिन के 10 बजे से शाम 8 बजे तक संपर्क कर सकते हैं।

यदि आप निवेश के इच्‍छुक है तो इसे CLICK करें और फॉर्म भरकर E Wealth account खुलवाएं। साथ ही मुफ्त सलाह पाएं।

आगे के लेख में हम आपको लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड चुनने का तरीका बताएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!