म्युचुअल फंड कैसे काम करता है? Mutual fund kaise kaam karta hain?

पार्ट 2- म्युचुअल फंड कैसे काम करता है?

म्युचुअल फंड कैसे काम करता है: जब बहुत सारे निवेशक रिटर्न पाने की मंशा से निवेश करते हैं तब म्युचुअल फंड का गठन होता है। इन पैसों या एसेट का प्रबंधन एसेट मैनेजमेंट कंपनी के हाथों होता है।

Advertisement

स्कीम के आब्जेक्टिव्स के मुताबिक पोर्टफोलियो में फंड मैनेजरर्स की देखरेख में निवेश किया जाता है। फंड मैनेजर लगभग हर उस कंपनी के फंडामेंटल्स के बारे में गहरी जानकारी होती है, जिनमें राशि निवेशित की जानी है।

इसके लिए वह कई कंपनियों का समय-समय पर विजिट करता है। वह कंपनी के बैलेंस शीट, प्रबंधन पक्ष, उसकी नीतियों और ढेर सारे पहलुओं का निरीक्षण भी करता है। ताकि निवेशकों के हित में सही निवेश किया जा सके।

इसके अलावा एसेट मैनेजमेंट कंपनी के ट्रस्टी निवेशकों का धन सुरक्षित रखने के प्रति बेहद चौकन्ने होते हैं।

यह भी पढ़ें- Mutual fund kya hain | What is mutual fund in hindi

आपके पैसों का उपयोग किस प्रकार होता है?

म्युचुअल फंड कैसे काम करता है : इक्विटी म्यूचुअल फंड  की स्कीम चलाने वाली एसेट मैनेजमेंट कंपनी आपके पैसों को शेयर, कार्पोरेट और गवर्नमेंट बॉड्स, गवर्नमेंट सिक्योैरिटीज, फिक्स्ड इनकम के साधनों और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करती है।

चूंकि, इनमें जोखिम थोड़ा ज्यादा रहता है इसलिए इनके रिटर्न भी खासे आकर्षक होते हैं। हाइब्रिड फंड में डेट (सरकारी साधनों) और इक्विटी (निजी साधनों) का 50-50 प्रतिशत निवेश होता है।

स्थिरता और सुरक्षा के हिसाब से ये फंड सुरक्षि‍त माने जाते हैं। इसलिए रिटर्न भी बैंक एफडी से थोड़ा ही ज्यादा मिलता है।

किसी एक कंपनी के स्टॉक में निवेश करने में जोखिम का स्तर बहुत ज्यादा रहता है। इसलिए उनमें ज्यादा रिटर्न की संभावना भी भरपूर होती हैं।

यह भी पढ़ें-म्‍यूचुअल फंड सही है,लेकिन किस तरह के निवेशक के लिए? यहां जानें

म्‍युचुअल फंड निवेश में कम जोखिम

वहीं, म्युचुअल फंड में निवेशित पैसों के छोटे अंश कई कंपनियों में जाते हैं, इसलिए यहां किसी एक कंपनी के खराब प्रदर्शन की वजह से पोर्टफोलियो के प्रदर्शन पर नकरात्मक असर नहीं पड़ता। नतीजतन जोखिम का स्तर कम होता है।

यही वजह है कि म्युचुअल फंड में इन्वेस्ट करना शेयर बाज़ार में निवेश करने से ज्यादा फायदेमंद और कम जोखिमभरा है।

उदाहरण के तौर पर जोखिम टालने के लिए एसेट फंड कंपनी आपकी राशि का निवेश अलग अलग सेक्टर में करते हैं।

जैसे बैंक,फार्मा, ऑयल एंड गैस, आईटी, रियल एस्टेट, मेटल, इंजीनियरिंग एंड कंस्ट्रक्शन आदि। किसी सेक्टर के परफार्मेंस में गिरावट आने पर बाकी के सेक्टर पोर्टफोलियो को नीचे गिरने से बचा लेते हैं। नतीजतन रिस्क का लेवल कमतर होता जाता है।

यह भी पढ़ें-Equity mutual fund की एसआईपी क्‍या अभी बंद कर दें? इसमें निवेश कितना फायेदमंद?

म्युचुअल फंड में निवेशित पैसों का क्या होता है?

म्युचुअल फंड कैसे काम करता है : म्युचुअल फंड की किसी स्कीोम में पैसे निवेशित करने का क्याई मतलब है? निवेशक के पैसों से यूनिट्स खरीदी जाती हैं। ये यूनिट्स जिस रेट पर खरीदीं जाती हैं उसे फंड की एनएवी कहा जाता है। एनएवी यानी नेट एसेट वैल्यूफ प्रतिदिन शेयर बाजार के बंद होने पर तय हो जाती है।

उदाहरण के तौर पर किसी फंड की एनएवी किसी दिन विशेष पर 10 रुपये है। तब 1000 रुपये के निवेश पर 100 यूनिट्स खरीदीं जाएंगी।

अगर एनएवी 5 रुपये हो तो 200 यूनिट्स और एनएवी 20 रुपये हो जाए तो महज 50 यूनिट्स ही खरीदी जाएंगी। मतलब फंड एनएवी बढ़ने पर कम यूनिट्स जबकि फंड एनएवी घटने पर ज्या दा यूनिट्स मिलेंगी।

ऊपरी गणना को एक अन्यज तरीके से भी देखा जा सकता है। पूरे निवेश का दाम आपको यूनिट्स की संख्या और एनएवी को गुणा करने पर मिल जाएगा।

यह भी पढ़ें- Fixed deposit free gift : बेटी के नाम 11 हजार की FD करेगी ये संस्था

म्युचुअल फंड में निवेश कैसे करेंं ?

म्यूचुअल फंड में निवेश आप दो तरह से कर सकते हैं। पहला, लम्प सम यानी एकमुश्त और दूसरा SIP यानी एसआईपी (सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) के जरिए।

लम्प सम के तहत आप एकसाथ बड़ी धनराशि निवेशित कर सकते हैं। SIP में आप तय धनराशि को हर महीने की तय तारीख पर निवेशित करते हैं। इसे किस्तों में निवेश भी कहा जा सकता है।

बैंक से ईसीएस (इलेक्ट्रानिक क्लीयरेंस सेल) मैंडेट के साथ एसआईपी की राशि आपके बैंक खाते से तय तारीख पर अपने आप जमा हो जाती है। ये एसआईपी मासिक, त्रैमासिक और छहमाही आधार पर भी जमा की जा सकती है।

म्युचुअल फंड कैसे खरीदें ?

म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए आप किसी थर्ड पार्टी मोबाइल एप की मदद ले सकते हैं।

अगर आपको ये समझ नहीं आ रहा है कि म्युचुअल फंड की किस स्कीम में निवेश करना चाहिए तो इसके लिए आप इस लिंक पर CLICK करके अपना NJ E-wealth account अकाउंट खुलवाएं। आपको फ्री सलाह दी जाएगी।

म्युचुअल फंड कैसे खरीदें : अगर आपका कोई सवाल है तो निवेश सलाहकार को 7007367525 पर कॉल करें।

अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो तो कमेंट बॉक्‍स में कमेंट करें। साथ ही हमारे फेसबुक पेज पर जाकर लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!